समाचार और घटनाक्रम

NBRI परिसर में आयोजित पुष्प प्रदर्शनी

 

प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी जीवनीय सोसाइटी ने NBRI परिसर में 9-10 दिसम्बर 2017 को आयोजित पुष्प प्रदर्शनी में स्वस्थ जीवन हेतु अपने साहित्य व जैविक उत्पादों को सफलता पूर्वक प्रस्तुत किया. प्रदर्शनी का उदघाटन प्रादेशिक विधि एवं न्याय मंत्री माननीय श्री बृजेश पाठक द्वारा किया गया. माननीय श्री पाठक जी ने जीवनीय सोसाइटी के उत्पादों के सम्बन्ध में जानकारी ली एवं सोसाइटी के उत्पादों एवं कार्यों की सराहना के साथ ही उज्जवल भविष्य की कामना भी की. जीवनीय सोसाइटी द्वारा इस वर्ष १०० से अधिक रसायन एवं विषमुक्त उत्पादों को प्रस्तुत किया गया जिनमे मक्का, बाजरा व अन्य मोटे अनाजों के आटें, सांवा चावल, किनोआ जैसे स्वास्थ्यवर्धक अनाज, हल्दी पाउडर, तुलसी अर्क, गुलाब जल, हल्दी पत्तियों का तेल, सोंठ, अलसी आदि के स्वास्थ्यवर्धक गुड़ व शहद के अतिरिक्त खांसी, जुकाम व थकान में उपयोगी जड़ी-बूटी चाय, अन्य हर्बल चूर्ण व कीट विकर्षक तथा औषधीय पौधे आकर्षण का केंद्र रहे. इस वर्ष सोसाइटी ने मोटे अनाजों से बने बिस्कुट व जैविक अचार के उद्यमियों के उत्पादों को भी प्रोत्साहित किया. इस वर्ष सोसाइटी ने लोगों को अपने घरों में स्वयं जैविक सब्जियों उगाने व घर के व रसोई के कचरे से खाद बनाने को प्रेरित किया. इस हेतु संस्था ने एक जैविक रसोई वाटिका किट विकसित की है. जिसका उपयोग कई लोग अपने घरों में प्रयोग कर सब्जियां भी उगा रहे हैं. प्रदर्शनी में आये आगंतुकों ने सोसाइटी के उत्पादों, विशेषतः अनेक प्रकार के गुड़, मोटे अनाज के आटे व बिस्कुट, हल्दी चूर्ण व हल्दी के पत्तों के तेल को खूब सराहा. सोसाइटी के समन्वयक श्री रमापति त्रिपाठी जी ने आगंतुकों को सोसाइटी के उत्पादों की जानकारी दी तथा डॉ. नरेन्द्र मेहरोत्रा ने जैविक खेती और उनसे उपजे उत्पाद के लाभ एवं रासायनिक उत्पादों के दुष्प्रभावों की जानकारी आगंतुकों के समक्ष प्रस्तुत की. बड़ी संख्या में लोग सेहत के प्रति जागरूक दिखाई दिए. इस पुष्प प्रदर्शनी में 15-16 कम्पनियों ने अपने स्टाल लगाये थे, जिनमे सोसाइटी के अतिरिक्त पौधों की नर्सरी , क्राकरी, खाद बनाने की विधि इत्यादि स्टाल थे. प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी प्रदर्शनी में पूरे भारत से आगंतुक आये.